जॉर्डन हत्याकांड में पहला असली मुलजिम गिरफ्तार

0
6

कोतवाली थाना के एसआई सुरेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने चुरू में की कार्यवाही
सरदारशहर से लूटी गयी आई-10 कार भी बरामद
गंगानगर पुलिस पूछताछ में और हो सकते हैं सनसनीखेज खुलासे
श्रीगंगानगर। जवाहरनगर थाना पुलिस भले ही तीन माह पहले ही जॉर्डन हत्याकांड का खुलासा कर चुकी हो लेकिन उसके हमलावरों में शामिल पहला अपराधी अब पकड़ में आया है। यह काम हुआ है आईजी दिनेश एमएन के प्रयासों से। उनकी श्रीगंगानगर में नियुक्त स्पैशल टीम ने चुरू में छापा मारा। इन लोगों से सरदारशहर में लूटी गयी कार को भी बरामद कर लिया गया है। यह लोग एक शोरूम को भी लुटने की योजना बना रहे थे। इनके पास से सब्बल और हथोड़ा नहीं बल्कि आधुनिक हथियार बरामद हुए हैं।
निवर्तमान आईजी ने अपनी पीठ थपथपाने के लिए करीबन तीन माह पूर्व ही जॉर्डन हत्याकांड का खुलसा कर दिया था। उस समय पुलिस के पास उन पांच लोगों में से एक भी अपराधी शामिल नहीं था जिसने जॉर्डन पर गोलियां चलाकर उसको मौत के घाट उतार दिया था। अंकित भादू भी पकड़ में नहीं आया था और लारेंस बिश्रोई पर शक जताया गया किंतु उससे भी उस समय तक व्यापक पूछताछ नहीं हो पायी थी क्योंकि पुलिस ने उसको प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार ही नहीं किया था।
आईजी बदला तो पुलिस के हालात भी बदलने लगे हैं। दिनेश एमएन ने कोतवाली पुलिस थाना के एसआई सुरेश कुमार के नेतृत्व में एक स्पैशल टीम का गठन किया। इसमें नोहर के दो सिपाही भी शामिल किये गये थे। इस टीम ने कई गांवों और ढाणियों में जांच के बाद आखिर में चुरू जिले में छापा मारा। वहां वार्ड नं. 18 में पांच युवकों के छिपे होने की जानकारी सामने आयी थी।
पुलिस ने साहवा पुलिस को साथ लेकर घेराबंदी की और पांचों युवकों को हथियार गिराने पर मजबूर कर दिया। गिरफ्तार किये गये युवकों में जगतसिंह पुत्र कुलदीपसिंह राजपूत निवासी नोहर, बलराम पुत्र राजीराम जाट निवासी परलीका नोहर, जसविन्द्रसिंह पुत्र धर्मपाल जाट निवासी ललानिया नोहर, विक्रम पुत्र रामकुमार जाट निवासी सोनड़ी नोहर, नरेश पुत्र कृष्ण जाट निवासी सोनड़ी शामिल हैं। यह सभी अंकित भादू के गैंग के बताये जा रहे हैं।
अगर पुलिस पर यकीन किया जाये तो यह भी पता चलता है कि जगतसिंह पर 10 हजार रुपये का ईनाम था। यह वही जगतसिंह है जो जॉर्डन हत्या करने वाले पांच लोगों में शामिल था। इन लोगों से पूछताछ की गयी तो यह भी खुलासा हुआ कि पांचों आरोपी एक शोरूम को लूटने की योजना बना रहे थे। इनके कब्जे से एक स्वचलित कटर भी बरामद हुआ है जो लोहे और एल्युमियन को कुछ ही क्षणों में अपनी तेज धार से काट देता है। इन लोगों ने शटर और अंदर वाले गेट को काटने की योजना बनायी हुई थी।
दूसरी ओर साहवा पुलिस ने बताया कि इनके कब्जे से एक ग्रांड आई-10 कार भी बरामद की गयी है। यह कार इन लोगों ने कुछ ही दिन पहले सरदारशहर थाना इलाके में लूटी थी। जगतपालसिंह को शीघ्र ही श्रीगंगानगर पुलिस अपनी हिरासत में लेकर पूछताछ करेगी और संभव है कि अनेक बड़ी वारदात का खुलासा हो जाये।
आईजी दिनेश एमएन ने कार्यभार संभालने के बाद बता दिया है कि कानून के हाथ बहुत ही लम्बे होते हैं। जगतपाल और अन्य लोगों से पूछताछ के बाद यह संभव नहीं है कि पुलिस अब बाकी आरोपितों को भी शीघ्र गिरफ्तार नहीं कर सके। पुलिस को आगामी दिनों में बड़ी सफलता मिलने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here