एल पासो 16 दिसंबर (स्पूतनिक) ग्वाटेमाला की सात साल की शरणार्थी बच्ची जैकलिन काल मैकिन के माता-पिता ने अमेरिकी हिरासत में बच्ची की मौत की निष्पक्ष जांच की मांग की है।
शरणार्थी बच्ची के माता-पिता ने कहा है कि हिरासत में लिए जाने से पहले बच्ची बिल्कुल स्वस्थ थी।
अमेरिकी सीमा रक्षक पुलिस ने सात वर्षीय बच्ची को छह दिसंबर को उसके माता-पिता तथा अन्य कई लोगों के साथ गैरकानूनी तरीके से अमेरिका में दाखिल होने के कारण न्यू मेक्सिको इलाके में हिरासत में लिया था। ये लोग मैक्सिको सीमा से अमेरिका में दाखिल हुए थे।
परिजनों के वकीलों ने शनिवार को जारी बयान में कहा,“ हम जांचकर्ताओं से जैकलिन की मौत की निष्पक्ष एवं स्वतंत्र जांच का आग्रह करते हैं ।” उन्होंने कहा कि हिरासत में लिए जाने के पहले जैकलिन को कुछ नहीं हुआ था ,वह बिल्कुल स्वस्थ थी।
एनरिक मोरेनो और लीन्न विधि कार्यालय के वकीलों ने बच्ची के परिवार की तरफ से जारी बयान में कहा कि परिवार बच्ची की मौत और बच्चों को गिरफ्तार करने और उन्हें हिरासत में लेने के मसले की जांच संबद्ध देश के कानून के तहत किये जाने की जांचकर्ताओं से अपील करता है।
परिजनों ने कहा है कि वे जांचकर्ताअों काे इस मामले में सहयोग करना चाहते हैं कि जैकलिन की मौत किन परिस्थितियों और किन करणों से हुई।
जांचकर्ताओं ने जैकिलन के पोस्टमार्टम की रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की है और बच्ची के पिता के बयान को भी जारी नहीं किया गया है।
‘वाशिंगटन पोस्ट’ की रिपोर्ट के अनुसार बच्ची ने कई दिनों से खाना-पीना छोड़ दिया था। उसे 105.7 डिग्री बुखार था। तबीयत ज्यादा बिगड़ती देख उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया।
अमेरिकी सीमा रक्षक पुलिस ने छह दिसंबर को जैकलिन को उसके पिता और 163 अन्य लाेगों के साथ हिरासत मेें ले लिया था। दो दिन बाद जैकलिन की मौत हो गयी। बच्ची और उसके पिता की पहचान उजागर नहीं की गई है।
उल्लेखनीय है कि मैक्सिको से आने वाले शरणार्थियों के खिलाफ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सख्त नीति के कारण अमेरिका में करीब 2000 शरणार्थी बच्चों को उनके माता-पिता से अलग रखा गया है।
आशा दिनेश
स्पूतनिक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here