Browse By

उच्च न्यायालय ने भाजपा रथ यात्रा को मंजूरी नहीं दी

कोलकाता, 06 दिसम्बर(वार्ता) कोलकाता उच्च न्यायालय ने राज्य में सांप्रदायिक सद्भाव बिगड़ने की खुफिया विभाग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की शुक्रवार से प्रस्तावित “ रथ यात्रा” को हरी झंडी नहीं दी है।
न्यायाधीश तपब्रता चक्रबर्ती ने गुरुवार को भाजपा की रथ यात्रा को मंजूरी दिए जाने के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया। न्यायालय ने कहा कि जिन 42 जिलों से होकर रथ यात्रा को गुजरना है वहां के सुरक्षा प्रबंधों को ध्यान में रखते हुए इसकी अनुमति देना उचित नहीं होगा।इस मामले की अगली सुनवाई अब नौ जनवरी को होगी। न्यायाधीश चक्रबर्ती ने सभी 42 जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा प्रबंधों की रिपोर्ट मांगी है।
न्यायालय में इस मामले पर सुनवाई शुरु होने पर राज्य सरकार के महाधिवक्ता किशोर दत्ता ने कूच बिहार जिले और खुफिया विभाग की सील बंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी।
महाधिवक्ता की दलील थी “ भाजपा नेताओं ने सक्षम अधिकारियों को पत्र दिया है और खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि उचित सुरक्षा इंतजाम नहीं किए गए तो गड़बड़ की संभावना है।’’ राज्य सरकार की तरफ से न्यायालय में बताया गया “ सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न हो सकता है ।”
महाधिवक्ता ने न्यायालय से कहा कि कूच बिहार जिला पुलिस अधीक्षक ने भी आशंका जताई है कि यदि जिस रास्ते से रथ यात्रा गुजरनी हैं वहां सुरक्षा के चाक चौबंद प्रबंध नहीं किए गए तो सांप्रदायिक सदभाव बिगड़ सकता है । महाधिवक्ता ने रथ यात्रा की मंजूरी नहीं दिए जाने के विरोध में पूरक हलफनाम दिए जाने का भी विरोध करते हुए कहा कि उसे या तो नयी याचिका अथवा इस याचिका में संशोधन करना चाहिए. न्यायाधीश चक्रबर्ती के इस सवाल पर कि यदि कुछ “ अनहोनी” हो गयी तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा ।
भाजपा के वकील अन्निदय मित्रा ने कहा कि कानून और व्यवस्था को बनाये रखने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की है । न्यायाधीश चक्रबर्ती की व्यवस्था के बाद भाजपा ने कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश देबाशीष कार गुप्ता के समक्ष इस मामले की गुहार लगाई है। मुख्यमंत्री न्यायाधीश ने भाजपा नेताओं को इस मामले पर शुक्रवार को सुनवाई करने का आश्वासन दिया है।
भाजपा पश्चिम बंगाल में तीन रैलियां करना चाहती हैं जिसकी शुरुआत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नेतृत्व में उत्तर के कूचबिहार से कल प्रस्तावित रथ यात्रा से होनी है। नौ दिसम्बर को दक्षिण 24 परगना जिले के काकद्वीप से और 14 दिसंबर को बीरभूम जिले के तारापीठ मंदिर से प्रस्तािवत है। रथ यात्रा सभी 42 संसदीय क्षेत्रों ने निकलेगी ।
भाजपा ने अगले साल होने वाले आम चुनाव में 42 में से 22 सीट जीतने का लक्ष्य रखा है। फिलहाल भाजपा के पश्चिम बंगाल से दो सांसद हैं। इनमें एक दार्जिलिंग और दूसरा आसनसोल से है।
मिश्रा जितेन्द्र
वार्ता

Sharing is caring!

Translate »
shares
WhatsApp us