तिरुपुर (तमिलनाडु), 10 फरवरी (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत में कभी कोई सैन्य तख्तापलट नहीं होगा। वह परोक्ष रूप से उन खबरों के संदर्भ में यह बात कह रहे थे जिनमें कथित तौर पर तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल वी के सिंह के कार्यकाल के दौरान 2011-12 में सेना के ऐसे अभियान छेड़ने का जिक्र था।

मोदी ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा,‘‘कुछ दिन पहले देश ने उस कहानी पर अपनी कड़ी नफरत प्रकट की थी जिसमें संप्रग के एक शीर्ष मंत्री ने एक कहानी आगे बढ़ाई कि हमारी सेना एक तख्तापलट करेगी।’’

उन्होंने कहा कि प्रत्येक भारतीय यह जानता है कि हमारी सेना ऐसी कोई चीज नहीं कर सकती लेकिन कांग्रेस का रुख देखिये।’’

प्रधानमंत्री की यह टिप्पणी केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व सेना प्रमुख वी के सिंह द्वारा यह कहने के कुछ दिन बाद आयी है कि उन्होंने मोदी को पत्र लिखकर 2012 में संप्रग..दो सरकार के दौरान तख्तापलट के प्रयास के बारे में कथित रूप से झूठी रिपोर्ट प्रकाशित कराने की जांच कराने की मांग की है।

सिंह ने कहा, ‘‘भारतीय सेना देश से प्रेम करती है और वह कभी भी उसके खिलाफ नहीं जा सकती।’’

मोदी ने साथ ही सेना की चार दशक पुरानी ‘वन रैंक वन पेंशन’ मांग को पूरा करने का उल्लेख किया और कहा, ‘‘कांग्रेस हमारी सेना का अनादर करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ती।’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक नेता ने सेना प्रमुख के लिए ऐसे समय अनुचित भाषा का इस्तेमाल किया जब सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए सीमापार किया था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि राजग सरकार ‘‘प्रत्येक भारतीय की एक सरकार है। हम भविष्य के निर्माण के लिए कदम उठाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं।’’

मोदी की यह टिप्पणी तमिलनाडु में मुख्य विपक्षी दल द्रमुक और उसकी सहयोगी पार्टियों द्वारा इसको लेकर बार बार हमले करने के मद्देनजर महत्व रखती है कि केंद्र की भाजपा सरकार अल्पसंख्यकों के हितों के खिलाफ काम कर रही है।

उन्होंने विकास को लेकर समग्र दृष्टिकोण का उल्लेख करते हुए सड़क निर्माण, भारत माला परियोजना में तेजी का उल्लेख किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here