कांग्रेस के बड़े नेता टॉम वडक्कन भाजपा में शामिल, केरल में मोदी-शाह को बड़ी सफलता

नई दिल्ली। कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के करीबी नजदीकी लोगों में गिने जाने वाले केरल के वरिष्ठ नेता टॉम वडक्कन ने गुरुवार को कांग्रेस को बॉय-बॉय कहकर उसको सकते में डाल दिया। वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की जोड़ी को बड़ी सफलता हासिल हुई है। वडक्कन ने भाजपा सदस्यता ग्रहण की और कांग्रेस को राष्ट्रीय मुद्दे पर भी घेर लिया।

केरल में भारतीय जनता पार्टी पिछले तीन सालों से लगातार वहां आंदोलन-धरना-प्रदर्शन कर अपनी जगह बनाने के लिए प्रयासरत थी। भाजपा को ज्ञान था कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में उसको उत्तरप्रदेश सहित उत्तर भारत के कई इलाकों में नुकसान हो सकता है और इसी कारण उसने केरल, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर भारत में अपनी पकड़ मजबूत करने का प्रयास किया।
पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर के अनेक राज्यों में वह नंबर एक या दो की स्थिति में पहुंच गयी। वहीं भाजपा ने दक्षिण भारत के केरल में भी अपनी स्थिति को कुछ हद तक मजबूत किया। वहीं गुरुवार को लोकसभा चुनावों के लिए भाजपा को बड़ी बढ़त हासिल हुई। कांग्रेस नेता और कभी सोनिया गांधी के नजदीकी लोगों में शामिल रहे टॉम वडक्कन ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली। इससे पार्टी सकते में आ गयी। केरल में अल्पसंख्यक समुदाय के नेता के पार्टी में शामिल होने से भाजपा की इस समुदाय में भी अब बढ़त मिल सकती है।
वडक्कन ने भाजपा में शामिल होने के बाद कहा, पाकिस्तान स्थित आतंकवादी शिविर पर हुए हमले पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया दुखद थी। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस के भीतर स्थितियों को लेकर आहत थे जहां यह स्पष्ट नहीं था कि सत्ता के केंद्र में कौन है ।
उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान स्थित आतंकी अड्डे पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया दुखद थी । उन्होंने जोर दिया कि उनका विकास को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच पर पूरा विश्वास है ।

वडक्कन केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हुए । उन्होंने बाद में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी मुलाकात की । वडक्कन ने कहा, ” मैं बेहद आहत हूं, इसलिये यहां हूं । ÓÓ उन्होंने जोर दिया कि कांग्रेस सशस्त्र बलों की ईमानदारी पर सवाल उठा रही है। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में कांग्रेस की प्रतिक्रिया निराशजनक रही है। वडक्कन ने कहा, ” मैंने भारी दिल के साथ पार्टी :कांग्रेस: छोड़ी है । अगर कोई पार्टी राष्ट्रीय हितों के खिलाफ काम करती है, तब पार्टी छोडऩे के अलावा कोई और विकल्प नहीं बचता है । ÓÓ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व पर परोक्ष हमला करते हुए उन्होंने कहा कि वे अब इस्तेमाल करो और फेंकों की नीति अपना रहे हैं।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तो पहले ही मान चुकी हैं कि लोकसभा चुनावों में उसकी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस या माकपा नहीं इस बार भाजपा होगी। इसी कारण उसने लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा नेताओं की बंगाल यात्राओं को प्रभावित करने का भी प्रयास किया। अमित शाह की रथ यात्रा को लेकर भी राज्य सरकार अदालत में पहुंच गयी थी। बंगाल में भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस में काफी तोडफ़ोड़ की थी। अब केरल में भी कांग्रेस को बड़ा झटका देकर बता दिया कि यहां भी सत्तारुढ़ माकपा सरकार के सामने अब वह दूसरे नंबर की पार्टी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here