जलियांवाला बाग के शहीदों की याद में जारी हुआ खादी मैरीगोल्ड

अमृतसर 12 मार्च (वार्ता) अमृतसर के विभाजन संग्रहालय ने जलियांवाला बाग हत्याकांड के शताब्दी वर्ष के उपलक्ष्य में साल 1919 में जलियांवाला बाग में मारे गए शहीदों की याद में एक विशेष रूप से बनाया गया अनूठा खादी मैरीगोल्ड जारी किया है।
संग्रहालय की प्रबंधक राजविंदर कौर ने मंगलवार को यहां बताया कि खादी मैरीगोल्ड उन सभी लोगों द्वारा पहना जाना है जो शहीदों को याद करना चाहते हैं। उन्होने बताया कि इच्छुक लोग 13 मार्च से 13 अप्रैल 2019 तक विभाजन संग्रहालय के अतिरिक्त कुछ अन्य स्थानों से खादी मैरीगोल्ड प्राप्त कर सकते हैं। 13 मार्च एक महत्वपूर्ण दिन है। 79 साल पहले इसी दिन शहीद उधम सिंह ने नरसंहार के 21 साल बाद लंदन के कैक्सटन हॉल में सर माइकल ओ’डायर को गोली मारी थी। संग्रहालय को उम्मीद है कि ‘पीला फूल’ हजारों लोगों द्वारा किए गए बलिदान को याद दिलाएगा।
पार्टिशन म्यूजियम चलाने वाले आर्ट्स एंड कल्चरल हेरिटेज ट्रस्ट के अध्यक्ष किश्वर देसाई ने कहा कि “यह खादी मैरीगोल्ड एक चमकदार पीला फूल है, जो बैसाखी से जुड़ा पारंपरिक रंग है। इसके केन्द्र में भगवा रंग बलिदान का प्रतीक है। यह महात्मा गांधी को सम्मानित करने के लिए खादी से बना है। इस वर्ष महात्मा गांधी के जन्म की 150 वीं वर्षगांठ है और हम शहीद उधम सिंह की याद में 13 मार्च को मैरीगोल्ड लॉन्च कर रहे हैं। यह शहीदों के लिए हमारी श्रद्धांजलि है और हम उम्मीद करते हैं कि कई लोग इसे सम्मान की निशानी के तौर पर पहनेंगे।”
यह स्मारक मैरीगोल्ड, विभाजन संग्रहालय अमृतसर के अतिरिक्त भारत और विदेश में जहाँ भी विभाजन संग्रहालय स्मारक कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है, वहां उपलब्ध होगा । विभाजन संग्रहालय, मैनचेस्टर संग्रहालय के सहयोग के साथ मैनचेस्टर में आठ अप्रैल को, एक विशेष प्रदर्शनी ‘जलियांवाला बाग 1919-पंजाब घेराबंदी’ का उद्घाटन करेगा। इसके बाद 12 अप्रैल को नेहरू केंद्र लंदन और बर्मिंघम लाइब्रेरी में प्रदर्शनी होगी। पंजाब में भी प्रदर्शनी आयोजित होगी।
ठाकुर, संतोष
वार्ता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here