An armed police officer stands guard in a perimeter outside Linwood mosque after Friday’s gunmen attacks, in Christchurch, New Zealand March 16, 2019.
REUTERS/Edgar Su

क्राइस्टचर्च। समुन्द्र किनारे बसे करीबन 4 लाख की आबादी वाले क्राइस्टचर्च शहर में शुक्रवार को दो मस्जिदों में गोलीबारी हो गई। इसमें कम से कम 49 लोग मारे गये हैं। हमले का वीडियो फेसबुक पर लाइव स्ट्रीम किया गया, जिसे हजारों लोगों ने देखा। प्रधानमंत्री जैकिंडा अर्डन ने इसे आतंकवादी घटना बताया है। पुलिस ने तीन व्यक्तियों को हिरासत में लेने की पुष्टि की है। न्यूजीलैण्ड में सभी मस्जिद को एक बार बंद कर दिया गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने घटना की निंदा की है।


मस्जिद अल नूर में शुक्रवार को मुस्लिम सम्प्रदाय के लोग विशेष नमाज अदा करने के लिए आये थे। नमाज अदा करने के दौरान ही गोलियां चलने की आवाज आई। तीन गोलियां चली, जिससे कई लोगों की मौत हो गयी। इसके बाद करीबन 10 क्षण तक कोई गोली नहीं चली और फिर इसके बाद लोग जब भाग रहे थे तो गोलियां चलने लगी और इसके बाद वहां मरे हुए दिखायी दे रहे थे या कुछ लोग घायल होकर तड़प रहे थे। पीडि़तों में बच्चे भी थे।

मीडिया रिपोर्टस में मरने वाले बच्चों की संख्या को नहीं बताया गया है।
इस पूरे घटनाक्रम को फेसबुक और ट्विटर पर लाइव स्ट्रीम किया गया। एक आदमी अहमद अल-महमूद। ने कहा कि वह अल नूर मस्जिद में था, हमलावर के पास एक बड़ी बंदूक थी … वह आया और मस्जिद में हर जगह, सभी को गोली मारना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि वह और अन्य लोग कांच के दरवाजे को तोड़कर भाग निकले। पुलिस ने कहा कि अल-नूर मस्जिद में चालीस लोग मारे गए, सात लोग करीबन पांच किमी की दूरी पर स्थित दूसरी मस्जिद में और एक की अस्पताल में दौराने इलाज मौत हो गई।
न्यूजीलैण्ड प्रधानमंत्री आर्डरन ने कहा, ‘यह अब केवल एक आतंकवादी हमले के रूप में वर्णित किया जा सकता हैÓ।
पुलिस ने कहा कि 20 साल के एक व्यक्ति सहित तीन लोग हिरासत में थे जिन पर हत्या का आरोप लगाया गया है। वह शनिवार को अदालत में पेश होंगे।
पुलिस आयुक्त माइक बुश ने कहा कि कुल 49 लोग मारे गए थे। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि 48 लोगों का इलाज बंदूक के घाव के लिए किया जा रहा था, जिनमें छोटे बच्चे भी शामिल थे। मेहमान बांग्लादेश की क्रिकेट टीम शूटिंग शुरू होने पर मस्जिदों में से एक पर नमाज़ के लिए पहुंच रही थी, लेकिन सभी सदस्य सुरक्षित थे, टीम के एक कोच ने मीडिया को बताया।
ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि हिरासत में लिये गये पुरुषों में से एक ऑस्ट्रेलियाई था। न्यूजीलैण्ड सरकार ने तत्काल प्रभाव से सभी मस्जिदों को सुरक्षा की दृष्टि से एक बार बंद कर दिया है। वहीं पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात किया गया है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इस हमले की निंदा करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा है, किसी भी आतंकवादी हमले के लिए पूरे मुस्लिम समुदाय को दोषी ठहरा दिया जाता है। यह हमला उसी नजर से देखा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here