देश में सुशासन के 80 दिनों में अनेक जनकल्याणकारी निर्णय लिये गये

श्रीगंगानगर, 7 मार्च। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कहा कि सीमा क्षेत्र के नागरिकों की दिन व रात की अलग-अलग तरह की समस्याएं होती है। सीमा क्षेत्र में रात्रि के समय किसानों को सिंचाई कार्य के लिये जाना होता है। सीमा क्षेत्र के नागरिकों को मूलभूत सुविधाएं मिले, इसके लिये हमें अधिक ध्यान देने की जरूरत है।

श्री गहलोत गुरूवार को गंगानगर जिले के दौरे के दौरान हिन्दुमलकोट बोर्डर पोस्ट पर जवानों से मिलने के बाद गांव खाट्लबाना में आयोजित जनसंवाद एवं किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम के अवसर पर.

श्री गहलोत गुरूवार को गंगानगर जिले के दौरे के दौरान हिन्दुमलकोट बोर्डर पोस्ट पर जवानों से मिलने के बाद गांव खाट्लबाना में आयोजित जनसंवाद एवं किसानों को ऋण माफी प्रमाण पत्र वितरण कार्यक्रम के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हमारी कथनी और करनी में कोई फर्क नही है। किसानों का कर्ज माफ किया गया है। वही पर बेरोजगार युवाओं को 3500 रूपये भत्ता देने की कार्यवाही प्रारम्भ कर दी गई है। दूध उत्पादकों को दूध पर बोनस प्रारम्भ कर दिया गया है। आने वाले पांच वर्षों में किसानों की बिजली की दरों में कोई बढोतरी नही करेंगे। डिग्गी निर्माण, फव्वारा व सोलर पम्पों पर अनुदान की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारी निति व नियत में कोई फर्क नही है।
उन्होंने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में हाकम बदल जाते है, लेकिन हुकुम नही बदलता। हम लोगों ने लोकतंत्र को बचाये रखा। पडौसी देश में पूर्णलोकतांत्रिक व्यवस्था नही है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का जिक्र करते हुए उनके बलिदान को याद दिलाया। उन्होंने कहा कि हम लोग विकास की बात करते है तथा बिना किसी भेदभाव के पूरे राज्य में समान रूप से विकास की भावना रखते है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सुशासन के 80 दिनों में अनेक जनकल्याणकारी निर्णय लिये गये है। हम लोग किसान, गरीब, दलित तथा पिछडों सहित 36 कोमों को साथ लेकर चलते है। हमारी सरकार ने कर्ज माफी का निर्णय लिया। अकेले गंगानगर जिले में 500 करोड़ रूपये की राशि के कर्ज माफ हुए है। युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने का कार्य प्रारम्भ किया जा चुका है। प्रदेश के 40 हजार युवाओं को भी कार्य दिया जायेगा। एक-एक गांव में एक युवा को सरकार की योजनाओं को आगे बढाने का जिम्मा दिया जायेगा। गरीबों को मिलने वाली गेहूं अब 1 रूपये प्रति किलों की दर से दी जायेगी। आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने किसानों को ऋण माफी के प्रमाण पत्र प्रदान किये।
इस अवसर पर राजस्व मंत्री श्री हरिश चौधरी, शिक्षा राज्यमंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा, जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद मदन नकाते, पुलिस अधीक्षक श्री हेमंत शर्मा, गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड,करणपुर विधायक श्री गुरमीत सिंह कुन्नर, पूर्व विधायक श्रीमती सोना देवी, सादुलशहर विधायक श्री जगदीश जांगिड, पूर्व सांसद श्री भरतराम मेघवाल, पूर्व सभापति श्री जगदीश जांदू तथा श्री अशोक चाण्डक सहित जनप्रतिनिधि, ग्रामीणजन व किसान उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here