नक्सली हमले में भाजपा विधायक की हत्या

रायपुर। छत्तीसगढ़ में मंगलवार को हुए एक नक्सली हमले से देश एक बार फिर से स्तब्ध रह गया। घटना में दंतेवाड़ा के विधायक भीमा मांडवी की मौत हो गयी। उनके तीन सुरक्षाकर्मी और एक चालक के भी मारे जाने की खबर है। राज्य के तमाम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गये हैं। पूर्व मुख्यमंत्री रमनसिंह ने घटना पर खेद जताया है और कहा कि वे कल बुधवार को मृतकों के आश्रितों से मिलने के लिए जायेंगे।

दंतेवाड़ा के एसपी अभिषेक पल्लव ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया है कि भाजपा विधायक भीमा मांडवी को आग्रह किया गया था कि वे नक्सल प्रभावित क्षेत्र का दौरा नहीं करें। उन्होंने कहा कि हमले के आधे घंटे तक फायरिंग हुई है। उनकी गाड़ी के साथ पांच और पुलिसकर्मी थे, उनकी भी तलाश की जानी है।
सीआरपीएफ का कहना है कि छत्तीसगढ़ राज्य की पुलिस विधायक को एस्कॉर्ट कर रही थी। ब्लॉस्ट में कम से कम पांच राज्य पुलिसकर्मियों के भी घायल होने का पता चला है। वहीं डीआईजी (एंटी नक्सल) पी सुंदर राज ने कहा कि उन्हें सूचना मिली है कि विधायक और उनके तीन सुरक्षाकर्मी व एक चालक ब्लॉस्ट में मारे गये हैं। यह शक्तिशाली आईईडी ब्लॉस्ट था। शवों की पहचान के लिए काम किया जा रहा है। इस घटना के बाद राजनीतिक प्रक्रिया में पूर्व सीएम रमनसिंह ने कहा है कि उन्होंने केन्द्रीय मंत्रियों से बात की है। घटना में भाजपा विधायक, उनके तीन सुरक्षाकर्मियों और चालक के मारे जाने पर कहा कि वे कल मृतकों के आश्रितों को मिलने के लिए जायेंगे।

भास्कर ने अपने रिपोर्टर के हवाले से खबर दी है कि विधायक चुनाव प्रचार से वापिस आ रहे थे, उस समय उनके काफिले पर हमला हुआ। यह घटना नुकुलनार से दो किमी दूर श्यामगिरी क्षेत्र में हुई है। अधिकारी मौके पर पहुंच गये हैं और क्षेत्र में सर्च अभियान भी चलाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here