कांग्रेस ने उड़ीसा विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया

कांग्रेस ने उड़ीसा विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया

भुवनेश्वर। उड़ीसा विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने भी रविवार को अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर दिया। भाजपा ने भी आज ही घोषणा पत्र जारी किया था।
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने उड़ीसा विधानसभा चुनावों के लिए घोषणा पत्र जारी कर दिया है। उड़ीसा में पिछले 15 सालों से बीजू जनता दल सत्तारुढ़ है। नवीन पटनायक को कांग्रेस चुनौति नहीं दे पायी है। वहां कांग्रेस का जनाधार भी कमजोर हुआ है जिसका लाभ इस बार भाजपा उठा रही है और उसका दावा है कि वह नवीन पटनायक की पार्टी को चुनौति देने वाला मुख्य दल होगा।

कांग्रेस के चुनावी गीत में ईसी का हस्तक्षेप, लाइनों को हटाया

कांग्रेस ने उड़ीसा विधानसभा चुनाव के लिए घोषणा पत्र जारी किया. file photo

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनावों के लिए प्रथम चरण का मतदान 11 अप्रेल को होना है। अन्तिम चरण का मतदान 19 मई को होगा। लगभग एक माह आचार संहिता को हो गया है। इस बार चुनाव आयोग ने चुनाव कार्यक्रम को काफी लम्बा खींच दिया है। इस कारण लोगों का रुझान भी ज्यादा नहीं रहा है।
लोकसभा चुनाव के लिए कार्यक्रम लम्बा होने के कारण राजनीतिक दलों को पैसा भी ज्यादा बहाना पड़ रहा है। छोटे कार्यक्रम में पैसा कम लगता है क्योंकि सभी कार्यक्रम जल्द निपट जाते हैं और पब्लिक का भी ध्यान चुनावों पर रहता है। इस बार कार्यक्रम लम्बा हो गया। एक माह चुनाव आचार संहिता को लगे हुए हो गये, किंतु अभी तक प्रथम चरण का मतदान भी नहीं हुआ है। भारतीय जनता पार्टी तो अभी तक अपना चुनावी घोषणा पत्र तक जारी नहीं कर पायी है। 9 अप्रेल तक उसको घोषणा पत्र जारी करना होगा।
वहीं कांग्रेस ने आज अपने चुनावी गीत को जारी कर दिया। इस गीत को पहले मंजूरी के लिए चुनाव आयोग के पास भेजा गया था। इस गीत में कुछ लाइन ऐसी थी, जिस पर आयोग ने कैंची चला दी। समाचार एजेंसी एएनआई ने बताया कि चुनाव आयोग का मानना है कि इससे साम्प्रदायिक सद्भाव प्रभावित होता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here