डेरा बाबा नानक डेरे को लेकर बैठक अब 16 अप्रेल को

चण्डीगढ़। डेरा बाबा नानक तक  जत्थेबंदियों की आसान पहुंच बनाने के लिए प्रयासरत भारत अब पाकिस्तान के साथ अगले दौर की बातचीत करने को तैयार हो गया है। पाकिस्तान ने अपनी कमेटी में अलगाववादी नेता को शामिल कर लिया था, जिसके विरोध में भारत ने बैठक में शामिल होने से इन्कार कर दिया था।
आगामी 16 अप्रेल को भारत-पाक बॉर्डर की जीरो लाइन पर आयोजित होगी। इस बैठक में रावी नदी पर बनाये जाने वाले पुल पर विस्तार से चर्चा होगी। दोनों देशों के तकनीकी अधिकारी भी इसमें भाग लेंगे। दोनों देशों के तकनीकी विशेषज्ञों के बीच यह दूसरी बैठक होगी। पहली बैठक अटारी सीमा पर 19 मार्च को हुई थी। इस बैठक में भारत द्वारा रखे गए प्रस्ताव पर पाकिस्तान के रुख पर चर्चा हुई थी। उसके बाद आगे की चर्चा के लिए वाघा सीमा पर एक बैठक का प्रोग्राम बनाया गया। इस बीच पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर के लिए गठित कमेटी में भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल रहे गोपाल चावला को शामिल कर लिया, जिसके बाद भारत ने यह बैठक स्थगित कर दी थी।
पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने ट्विटर के माध्यम से कहा कि पाकिस्तान भारत सरकार के उस प्रस्ताव को स्वीकार करता है, जिसमें करतारपुर कॉरिडोर निर्माण के लिए 16 अप्रैल को तकनीकी विशेषज्ञों की बैठक का उल्लेख है। डॉ. फैसल ने उम्मीद जताई कि भारत सरकार की ओर से प्रस्तावित यह बैठक करतारपुर कॉरिडोर को अमली जामा पहनाने के लिए सकारात्मक दिशा की तरफ बढ़ेगी। इस बैठक में प्रतिदिन पांच हजार श्रद्धालुओं को डेरा बाबा नानक तक जाने और गुरु पर्व पर 10 हजार श्रद्धालुओं को अनुमति देने पर चर्चा हो चुकी है। भारत, पाकिस्तान से सुरक्षा की गारंटी की भी मांग कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here