“दो दिन पहले पेरिस की पुरातन चर्च में आग लग गयी थी”
“राष्ट्रपति और पोप फ्रांसिस के बीच रिश्ते नहीं थे सहज”
“पोप ने दीवार के विरोध में दिया था कड़ा बयान”

President Donald J. Trump. File photo

वाशिंगटन। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पुरानी यादों को भुलाते हुए बुधवार को पोप फ्रांसिस Francis से बात की और पेरिस की प्राचीन एवं यादगार कैथोलिक धार्मिक स्थल नोट्रे डेम कैथेड्रल में हुई आगजनी पर शोक जताया तथा अमेरिकी विशेषज्ञों की मदद का भरोसा दिलाया।
पेरिस की नोट्रे डेम कैथेड्रल में पिछले दिनों आगजनी की घटना हो गयी थी। आग लगने के कारणों की अभी जांच की जा रही है। राष्ट्रपति श्री ट्रम्प ने बुधवार को ट्विट कर जानकारी दी कि उन्होंने पोप फ्रांसिस Francis से बात की है। पोप को उन्होंने विश्वास दिलाया है कि संयुक्त राज्य नोट्रे डेम कैथेड्रल के पुनर्निर्माण और उसकी प्राचीन विरासत को बचाये रखने के लिए हर संभव सहयोग करने को तैयार है।

उन्होंने यह भी बताया कि मंगलवार (पिछले दिन) को उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुएल मार्केन President से भी बात की थी। श्री ट्रम्प के अनुसार उन्होंने अपने विशेषज्ञों का सहयोग देने का वादा किया साथ ही उनको ईस्टर की शुभकामनाएं भी दीं।
अगर अमेरिकी केबल टीवी नेटवर्क चैनल सीएनएन की खबर पर यकीन किया जाये तो पोप फ्रांसिस और राष्ट्रपति ट्रम्प के बीच में पहले संबंध ज्यादा मधुर नहीं रहे थे। पोप फ्रांसिस ने दीवार बनाने का विरोध किया था और बयान दिया था कि जो लोग दीवार बनाने की बात करते हैं वे दीवारों में कैद होकर रह जायेंगे। पोप ने यह बात पनामा सिटी में हजारों युवाओं की भीड़ के बीच में कही थी। कैथोलिक धर्म गुरु ने यह भी कहा था कि जो दीवार बनाने की बात कर रहा है वह कैथोलिक नहीं हो सकता। वहीं ट्रम्प ने तुरंत इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि किसी धर्मगुरु को दूसरे व्यक्ति के धर्म पर बात नहीं करनी चाहिये। उन्होंने कहा था कि कुछ लोग पोप को मोहरे के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। ध्यान रहे कि डोनाल्ड ट्रम्प 2017 में अपनी राजकीय वेटिकिन यात्रा के दौरान पोप से मिले थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here