डैडबॉडी
फगवाड़ा में व्यक्ति ने की आत्महत्या। फाइल फोटो

जालंधर। पत्नी की देह को मुखाग्नि देकर वह घर आया था। उदास था। तीनों बच्चों ने सोचा कि उनका पिता अब उनका सहारा है। वह उनको संभालेगा। पत्नी की मौत से  वह इतना आहत हो चुका था कि उसने बच्चों के भविष्य की परवाह किये बिना स्वयं भी जहर खा लिया और इस तरह से मां के साथ पिता का साया भी तीनों बच्चों से उठ गया। कल तक जो हंसता-खेलता परिवार था, वह आज विरान हो गया। तीनों बच्चे यतीम हो गए।

पंजाब के कपूरथला जिले के फगवाड़ा शहर में जो कुछ हुआ है, उससे पत्थर दिल इंसान भी यही कह रहे हैं, हे ईश्वर! बच्चों पर रहम करना। इस तरह का अनर्थ जो हुआ है, वह किसी अन्य के साथ नहीं हो।

तीन दिन पहले तक फगवाड़ा शहर की सतनापुरा कॉलोनी में रहने वाले नरेश कुमार का हंसता-खेलता परिवार था। समाचार एजेंसी यूनिवार्ता ने बताया कि सोमवार को नरेश की पत्नी का आक्समिक निधन हो गया। परिवार सदमे में आ गया। रिश्तेदार एकत्र होने लगे और मंगलवार को संस्कार किया गया।

नरेश पत्नी के जाने के बाद अचानक ही बहुत टूट गया था। वह इतना ज्यादा गम में था कि उसको जीवन अब निरर्थक लगने लगा और इसी अवसाद में उसने जहर खा लिया। उसको अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गयी।

कल ही उसने अपनी पत्नी का संस्कार किया था और कल ही उसने जहर खा लिया। इस घटना से पूरा शहर ही गमजदा नजर आ रहा है। .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here