जालंधर, 17 मई – पंजाब में 19 मई को लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का होने जा रहे मतदान के मद्देनजर लोगों में सुरक्षा की भावना बनाये रखने के लिए शुक्रवार को केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों और पंजाब पुलिस के जवानों ने शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में फ्लैग मार्च किया।

यह भी पढ़ें : फ्लाॅप रैली में झूठे वादे करके उड़ गए राहुल गांधी : सतपाल सत्ती

फ्लैग मार्च के दौरान शहर के अंदरूनी हिस्सों में लोगों के साथ बातचीत करते पुलिस आयुक्त गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने कहा कि पुलिस विभाग शहर में अमन कानून की स्थिति को बहाल रखने के लिए वचनबद्ध है और किसी भी असामाजिक तत्व को शान्ति भंग करने की आज्ञा नहीं दी जायेगी। उन्होंने लोगों से अपील की कि 19 मई को बिना किसी डर और भय के वोट के अधिकार का प्रयोग करें। उन्होंने बताया कि केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों की 12 कंपनियाँ, जिनमें सीमा सुरक्षा बल, केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल, इंडो-तिब्बत सीमा सुरक्षा पुलिस और रेलवे सुरक्षा बल शामिल हैं, के साथ पंजाब पुलिस विभाग के 1810 आधिकारियों और कर्मचारियों को लोकसभा चुनाव के मतदान को बिना किसी डर और भय, निष्पक्ष और पारदर्शी और शांतिपूर्वक ढंग के साथ करवाने के लिए तैनात किया गया है।

यह भी पढ़ें : ‘निरंकारी’ शब्द का कापी राइट करवाने का हक किसी को नहीं: भाई लोंगोवाल

यह भी पढ़ें : इंजीनियरिंग के छात्र ने की आत्महत्या

पुलिस आयुक्त ने बताया कि शहर में दाख़िल होने वाले सभी रास्तों को पूरी तरह सील कर दिया गया है और शहर को सुरक्षा के मद्देनज़र विशेष जोनों में बांटा गया है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों और पंजाब पुलिस के आधिकारियों की ओर से संयुक्त तौर पर सुरक्षा प्रबंधों को मज़बूत किया गया है जिस दौरान लगाए गए 123 नाकों पर वाहनों की जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें : नरेन्द्र मोदी तजुर्बेकार,राहुल गांधी अनुभवहीन :बादल

श्री भुल्लर ने बताया कि इसके इलावा केंद्रीय सुरक्षा बलों और पंजाब पुलिस की 43 गश्ती दलों द्वारा शहर में नियमित तौर पर फ्लैग और पैदल मार्च निकाला जा रहा है जिससे संवेदनशील क्षेत्रों के लोगों में सुरक्षा की भावना को बरकरार रखा जा सके और वह बिना किसी डर और भय के अपने लोकतांत्रिक अधिकार का इस्तेमाल कर सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here